A Non-Profit Non-Commercial Public Service Initiative by Alka Vibhas   
तुमबिन मेरी कोन खबर

तुमबिन मेरी कोन खबर ले
गोवर्धन गिरीधारी रे

मोरमुकुट पीतांबर शोभे
कुंडल की गत न्यारी

खडी सभा मो द्रौपदी ठाडी
राखो लाज हमारी

मीरा के प्रभु गिरिधर नागर
चरणकमल बलहारी रे
गीत- वसंत शांताराम देसाई
संगीत - मा. कृष्णराव
स्वर - बालगंधर्व
नाटक- संगीत अमृतसिद्धी
राग- पिलू
ताल-कव्वाली, भजन
गीत प्रकार - नाट्यगीत हे श्यामसुंदर